Red PURPLE BLACK

विशेष वार्ता

 लाईव्ह अपडेट :  शुभवार्ता >>  बीकेवार्ता पाठक संख्या एक करोड के नजदिक -  दिनदूगीनी रात चौगुनी बढरही  पाठकसंख्या बीकेवार्ता की ---- पाठको को लगातार नई जानकारी देनें मेे अग्रेसर रही बीकेवार्ता , इसी नवीनता के लिए पाठको का आध्यात्तिक प्यार बढा ---- सभी का दिलसे धन्यवाद --- देखीयें हमारी नई सेवायें >>>  ब्रहमाकुमारीज द्वारा आंतरराष्टीय सेवायें  | ब्रहमाकुमारीज वर्गीकत सेवायें |आगामी कार्यक्रम | विश्व और भारत महत्वपूर्ण दिवस | विचारपुष्प |


 

लातूर

10 Sept विश्व आत्महत्या रोकथाम दिवस World anti Susite day

विश्वभरमें 10 सितंबरकोविश्वआत्महत्यारोकथामदिवसमनायागया

 

 

विश्व भर में 10 सितंबर को विश्व आत्महत्या रोकथाम दिवस मनाया गया. इसका उद्देश्य लोगों को आत्महत्या जैसे अपराध के प्रति जागरूक करना एवं उन्हें आत्महत्या करने से रोकना है. राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो के अनुसार भारत में वर्ष 2011 में एक लाख पैंतीस हजार लोगों ने आत्महत्या की थी. 

विश्व स्वास्थ्य संगठन के आंकड़ों के अनुसार दुनिया में हर 40 सेकंड में एक व्यक्ति खुदकुशी कर लेता है. प्रतिवर्ष 10 लाख लोगों की जान खुदकुशी की वजह से जाती है. 

आत्महत्या की प्रवृत्ति सार्वजनिक स्वास्थ्य संबंधी एक बड़ी समस्या है.

ily� Vog�G �%f";color:black'> जाने की बात कही गई थी.

मानवाधिकार: किसी भी व्यक्ति की जिंदगी, आजादी, बराबरी और सम्मान का अधिकार है मानवाधिकार है. भारतीय संविधान इस अधिकार की न सिर्फ गारंटी देता है, बल्कि इसे तोड़ने वाले को अदालत सजा देती है.

भारत में 28 सितंबर 1993 से मानव अधिकार कानून अमल में आया. केंद्र सरकार ने राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग का गठन 12 अक्टूबर 1993 को किया. वर्ष 2011 से राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग के अध्यक्ष पूर्व प्रधान न्यायाधीश न्यायमूर्ति केजी बालाकृष्णन हैं. 

आयोग के कार्यक्षेत्र में नागरिक और राजनीतिक के साथ आर्थिक, सामाजिक और सांस्कृतिक अधिकार भी आते हैं. जैसे बाल मजदूरी, एचआईवी/एड्स, स्वास्थ्य, भोजन, बाल विवाह, महिला अधिकार, हिरासत और मुठभेड़ में होने वाली मौत, अल्पसंख्यकों और अनुसूचित जाति और जनजाति के अधिकार.

 

नई टेक्नॉलॉजि(IT)

मनोरंजन