विशेष वार्ता

 

लाईव्ह अपडेट :  शुभवार्ता >>  बीकेवार्ता पाठक संख्या एक करोड के नजदिक -  दिनदूगीनी रात चौगुनी बढरही  पाठकसंख्या बीकेवार्ता की ---- पाठको को लगातार नई जानकारी देनें मेे अग्रेसर रही बीकेवार्ता , इसी नवीनता के लिए पाठको का आध्यात्तिक प्यार बढा ---- सभी का दिलसे धन्यवाद --- देखीयें हमारी नई सेवायें >>>  ब्रहमाकुमारीज द्वारा आंतरराष्टीय सेवायें  | ब्रहमाकुमारीज वर्गीकत सेवायें |आगामी कार्यक्रम | विश्व और भारत महत्वपूर्ण दिवस | विचारपुष्प |


 

31 जनवरी ( जेंजरा:कटघोरा) श्रीमद भगवद गीता.

31 जनवरी ( जेंजरा:कटघोरा) श्रीमद भगवद गीता. ब्र.कु. तुलसी बहनने सात दिवसीय प्रवचन श्रृंखला को किया सम्बोधित.

30 जनवरी (ग्वालियर) उमाभारती को दिया संदेश.

30 जनवरी (ग्वालियर) उमाभारती को दिया संदेश. सेवाकेंद्र संचालिका ब्र.कु. ज्योतीने दिया मा. आबू जाने का निमंत्रण.

29 जनवरी (गोदरा:गुज) समर्पण समारोह. कुमारीयोंने किया जीवन प्रभू समर्पण.

29 जनवरी (गोदरा:गुज) समर्पण समारोह. कुमारीयोंने किया जीवन प्रभू समर्पण. राजयोगी भाई बहनों का भी हुआ सम्मान.

28 जनवरी (सम्भलपूर) बी.के. पार्बती बहन सम्मानित.

28 जनवरी (सम्भलपूर) बी.के. पार्बती बहन सम्मानित. अमर उत्सव में किया सम्मान. 

27 जनवरी (अहेमदाबाद) द प्युचर आफ पावर.

27 जनवरी (अहेमदाबाद) द प्युचर आफ पावर. महादेव नगर में रिट्रीलट संपन्न.

26 जनवरी (मा.आबू ) द प्युचर आफ पावर.

26 जनवरी (मा.आबू ) द प्युचर आफ पावर. ज्ञानसरोवर में रिट्रीलट संपन्न.

25 जनवरी (नागपूर) राजयोगीनी ब्र.कु.उषादीदीजी का प्रवचन.

25 जनवरी (नागपूर) राजयोगीनी ब्र.कु.उषादीदीजी का प्रवचन. राजयोग मेडिटेशन टेक्निक्स फॉर हेल्दी एन्ड हॅप्पी सोसायटी विषयपर दिया प्रवचन.

24 जनवरी (आबूरोड) कृषक है देश की आत्मा, इसे शक्तिशाली बनाने की जरुरत-तवंर:

24 जनवरी (आबूरोड) कृषक है देश की आत्मा, इसे शक्तिशाली बनाने की जरुरत-तवंर: राष्ट्रीय किसान सशक्तिकरण दिव्य महोत्सव में जुटे देशभर के किसान.

23 जनवरी (रौरकेला:उडिसा)स्वस्थ और खुशनूमा जीवन के लिए राजयोग.

23 जनवरी (रौरकेला:उडिसा)स्वस्थ और खुशनूमा जीवन के लिए राजयोग. झारखंड के गव्हर्नर महोदयने किया उदघाटन.

22 जनवरी (रौरकेला:उडिसा) सम्मान समारोह.

22 जनवरी (रौरकेला:उडिसा) सम्मान समारोह. दादी जानकीजी के 100 वें अलौकिक जन्मदिवस पर कार्यक्रम.

21 जनवरी (गुडगांव)ओआरसी में रुहानी उडान कार्यक्रम.

21 जनवरी (गुडगांव)ओआरसी में रुहानी उडान कार्यक्रम. वार्षिक महोत्सव पर युवाओं के लिए किया था आयोजन.

20 जनवरी (जगन्नाथ पूरी) दादीजी का अलौकिक जनमदिवस कार्यक्रम.

20 जनवरी (जगन्नाथ पूरी) दादीजी का अलौकिक जनमदिवस कार्यक्रम. चार दिवसीय कार्यक्रम में प्रेरणादाई व्याख्यानोंका हुआ आयोजन.

19 जनवरी ( कोटा) बॅलेन्सशीट आफ लाईफ.

19 जनवरी ( कोटा) बॅलेन्सशीट आफ लाईफ. ब्र.कु. शिवानी बहन का मुख्य सम्बोधन.

18 जनवरी (पॅरिस) ब्रहमाकुमारी एनव्हारमेंट इनिशिएटीव.

18 जनवरी (पॅरिस) ब्रहमाकुमारी एनव्हारमेंट इनिशिएटीव. ब्रहमाकुमारी जयंती बहनने दिया सन्देश.

17 जनवरी (मलेशिया) बहन डेनिस की सेवायात्रा.

17 जनवरी (मलेशिया) बहन डेनिस की सेवायात्रा. विभीन्न सेवास्थानों पर किया सम्बोधित.

16 जनवरी (लंदन ) भ्राता नरेंद्र मोदीजीसे मिले बी.के. जेमनी बहन.

16 जनवरी (लंदन ) भ्राता नरेंद्र मोदीजीसे मिले बी.के. जेमनी बहन. लंदन में भारत के प्रधानमंत्री महोदयकी सेवायात्रा में दिया ईश्वरीय संदेश.

15 जनवरी (कोल्लापूर:मलेशिया) भ्राता नरेंद्र मोदीजीसे मिले बी.के. मिरा बहन.

15 जनवरी (कोल्लापूर:मलेशिया) भ्राता नरेंद्र मोदीजीसे मिले बी.के. मिरा बहन. भारत के प्रधानमंत्री महोदयकी सेवायात्रा में दिया ईश्वरीय संदेश. 

02 फरवरी (ग्वालियर) मंत्री श्री लाल सिंहजी को दिया संदेश.

01 फरवरी (पिंपरी:पूना) सिंधी समाजसेवा सम्मेलन.

31 जनवरी ( जेंजरा:कटघोरा) श्रीमद भगवद गीता.

30 जनवरी (ग्वालियर) उमाभारती को दिया संदेश.

29 जनवरी (गोदरा:गुज) समर्पण समारोह. कुमारीयोंने किया जीवन प्रभू समर्पण.

28 जनवरी (सम्भलपूर) बी.के. पार्बती बहन सम्मानित.

27 जनवरी (अहेमदाबाद) द प्युचर आफ पावर.

26 जनवरी (मा.आबू ) द प्युचर आफ पावर.

25 जनवरी (नागपूर) राजयोगीनी ब्र.कु.उषादीदीजी का प्रवचन.

24 जनवरी (आबूरोड) कृषक है देश की आत्मा, इसे शक्तिशाली बनाने की जरुरत-तवंर:

23 जनवरी (रौरकेला:उडिसा)स्वस्थ और खुशनूमा जीवन के लिए राजयोग.

22 जनवरी (रौरकेला:उडिसा) सम्मान समारोह.

21 जनवरी (गुडगांव)ओआरसी में रुहानी उडान कार्यक्रम.

20 जनवरी (जगन्नाथ पूरी) दादीजी का अलौकिक जनमदिवस कार्यक्रम.

19 जनवरी ( कोटा) बॅलेन्सशीट आफ लाईफ.

18 जनवरी (पॅरिस) ब्रहमाकुमारी एनव्हारमेंट इनिशिएटीव.

17 जनवरी (मलेशिया) बहन डेनिस की सेवायात्रा.

16 जनवरी (लंदन ) भ्राता नरेंद्र मोदीजीसे मिले बी.के. जेमनी बहन.

15 जनवरी (कोल्लापूर:मलेशिया) भ्राता नरेंद्र मोदीजीसे मिले बी.के. मिरा बहन.

14 जनवरी (शान्तिवन) प्रशासक प्रभाग का सम्मेलन

13 जनवरी (जम्मु) ज्योर्तिलिंगम मेले का उदघाटन.

13 जनवरी (जम्मु) ज्योर्तिलिंगम मेले का उदघाटन.

12 जनवरी (भोपाल) ग्लोबल वार्मिग राष्ट्रीय सम्मेलन आयोजित

11 जनवरी (गोदिया:महा) किसान सशक्तिकरण आध्यात्मिक महोत्सव.

10 जनवरी (शान्तिवन) बेटी बचाव अभियान.

09 जनवरी (कोची) ब्र.कु. शिवानी बहनने किया सम्बोधित.

08 जनवरी (अहेमदाबाद) रशियन ग्रुप कार्यक्रम

07 जनवरी (बैंगलौर) वार्षिक कृषी मेला में ईश्वरीय सेवा

06 जनवरी (देहली ) आध्यात्मिक संस्कृती ही विश्व शांती और सदभाव की कुंजी.

05 जनवरी (देहली:पाण्डवभवन) दादी आलराऊउ का स्मृतीदिवस

04 जनवरी (हैद्राबाद) दादीने किया मेगा कार्यक्रम का उदघाटन

03 जनवरी (डिब्रुगढ ) आत्मप्रकाशभाईजी की सेवायात्रा.

02 जनवरी (पाँडेचेरी) रुरल और अॅग्रीकल्चर रॅली का आयोजन

01 जनवरी (पंचेत:चिकरकुंडा) सर्तकता सप्ताह मनाया गया.

31 दिसम्बर (भोपाल) एकदिवसीय शिविर का आयोजन.

30 दिसम्बर (कोरबा) उर्जा संरक्षण सप्ताह

29 दिसम्बर (मालाड) स्वच्छ भारत अभियान.

28 दिसम्बर (शान्तिवन) दादीजी का जनमदिवस.

27 दिसम्बर (रामपूर) व्यक्तित्व विकास पर परिचर्चा.

26 दिसम्बर (इंदौर) विश्व के प्रेरणस्त्रोत थे भाईजी.

25 दिसम्बर ( उस्मानाबाद) सुशासन दिवस सम्पन्न.

24 दिसम्बर (कोरबा) तनाव प्रबंधन कार्यशाला.

23 दिसम्बर (चिकरकुंडा ) छटपूजा सेवा.

22 दिसम्बर (चिकरकुंडा) खूंन जाँच शिविर

21 दिसम्बर (भिलाई) आवो गुणवान बनें.

20 दिसम्बर (कोरबा ) आत्मीक संयम से उर्जा संरक्षण.

19 दिसम्बर (मालाड) ब्रहमाकुमारीज् पाठशाला का शुभारम्भ.

18 दिसम्बर (कोईम्तूर) शिवानी बहनने किया सम्बोधित.

17 दिसम्बर (गुवाहटी) रशियन संस्कृती दर्शन.

16 दिसम्बर (रायपूर) मुख्यमंत्री महोदय को ईश्वरीय संदेश.

15 दिसम्बर (देहली:करोलबाग) दादीजी मिले दादीजेसे.

14 दिसम्बर (देहली:पाण्डवभवन) दादीजी का जनमदिन मनाया गया.

13 दिसम्बर (उस्मानाबाद) दिव्य माता-बालक -गर्भ संस्कार कार्यक्रम

12 दिसम्बर ( जमनीपाली) वाह जिन्दगी वाह.

11 दिसम्बर (मालाड:मुम्बई) प्रवाह ग्रुप, एनके कॉलेज पर कार्यक्रम.

10 दिसम्बर ( रांची,झारखण्ड) बिरसा मंुडा केंद्रीय कारागृह में संदेश

09 दिसम्बर ( नासिक) व्यापारी स्नेहमिलन

08 दिसम्बर ( मालाड:मुम्बई) उमेश शुक्ला को ईश्वरीय संदेश.

07 दिसम्बर ( गया:बिहार) नैतिक शिक्षा का महत्व

06 दिसम्बर (जमनीपाली) दो दिवसीय शिविर सम्पन्न. द्वितीय समूह,

05 दिसम्बर (उस्मानाबाद) डाक्टर राजगुर सम्मानित.

04 दिसम्बर ( टिकरापारा) विश्व शाकाहारी दिवस परकार्यक्रम.

03 दिसम्बर (रांची) अल्फा स्कूल में जीवनशैली पर कार्यक्रम.

02 दिसम्बर (केशोद )खात मुर्हूत समारोह

01 दिसम्बर ( मालाड) डा. संगिता हन्सले को ईश्वरीय संदेश.

30 नवम्बर ( मालाड:मुम्बई)पहलाज नीहालनी को दिया सन्देश.

29 नवम्बर (मालाड:मुम्बई) सुभाष घई को दिया सन्देश.

28 नवम्बर (कोरबा ) बाल दिवस पर नैतिक शिक्षा कार्यक्रम

28 नवम्बर (कोरबा ) बाल दिवस पर नैतिक शिक्षा कार्यक्रम

27 नवम्बर ( टिकरापारा ) विश्व यादगार दिवस मनाया गया

26 नवम्बर (कोरबा ) अभियंता दिवस पर स्नेहमिलन.

25 नवम्बर (मुम्बई) बी.के. योगीनी बहन का जैन जाग्रुती अवार्ड.

24 नवम्बर (देहली) आध्यात्मिकता ही लायेगी विश्व में शान्ति.

23 नवम्बर (देहली) आंन्तरिक शक्तियों का विकास

22 नवम्बर (मास्को) बहन सुषमा स्वराज की भेट.

21 नवम्बर (केनिया) बी.के. उषाबहनजी की विदेश यात्रा.

20 नवम्बर (युएसए) डा. बीके बिन्नी का विश्व धर्मसंसद में सम्बोधन.

19 नवम्बर (चायना) बीके डा. सविता की सेवायात्रा.

18 नवम्बर (अलकापूरी:बडोदा) मेडिकल कॉन्फ्रेन्स.

17 नवम्बर (ग्वालीयर) व्यक्तित्व विकास शिविर सम्पन्न

16 नवम्बर (देवरा:हि.प्र.) स्वच्छता अभियान रैली.

15 नवम्बर (त्रिपुटटी:आ.प्र.) नई राजधानी का शुभारम्भ.

14 नवम्बर (गुड़गाँव:ओआरसी) स्ट्रेस डिटोक्स एण्ड लीडरशीप मीट.

13 नवम्बर (भिलाई) भव्य चैतन्य देवीयों की झांकी.

12 नवम्बर (उसलापूर:बिलासपूर) किसान सशक्तिकरण सम्मेलन.

11 नवम्बर (रायपूर) अलविदा डायबेटिक.  

10 नवम्बर (हुबली:कर्ना.) महिला सम्मेलन संपन्न.

09 नवम्बर (भीनमाल:राज) 93 वाँ नेत्र चिकित्सा शिविर सम्पन्न.

08 नवम्बर (वाशि:नवीमुम्बई) इंटरफेथ कॉन्फरेन्स में सम्मानित.

07 नवम्बर (शान्तिवन) आंतरराष्ट्रीय सम्मेलन सम्पन्न.

06 नवम्बर (मास्को) पीस डे मनाया गया.

05 नवम्बर (सिरसा) मीडिया सेमिनार का आयोजन.

04 नवम्बर (भीलवाडा:राज.) बीझनेस विंग कार्याशाला.

03 नवम्बर (लातूर) फटाकोंसे मुक्त दिपावली

02 नवम्बर (देहली) इंडियागेट पर योगाभ्यास

01 नवम्बर (रीवा) केंद्रीय जेल में व्याख्यान

30 अक्तुबर (सतना)केंद्रीय जेल में व्याख्यान.

29 अक्तुबर (ग्वालियर)नवदुर्गा की झाँकि.

28 अक्तुबर (टिकरापारा)नवदुर्गा की झाँकि.

27 अक्तुबर (पिंपरी:पुना) नवदुर्गा की झाँकि

26 अक्तुबर (सांगवी:उस्मानाबाद) किसानों को बाटें बीज.

25 अक्तुबर (टिकरापारा) गुरुनानक नगर में योग शिविर.

25 अक्तुबर (टिकरापारा) गुरुनानक नगर में योग शिविर.

24 अक्तुबर (आष्टा, म.प्र.) शासकीय कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय में व्याख्यान

23 अक्तुबर (शाजापूर, म.प्र.) सरस्वती विद्यामंदिर में व्याख्यान.

22 अक्तुबर (टिकरापारा:छ.ग.) बी.के.राजूभाई, मा.आबू ने किया सम्बोधित.

 21 अक्तुबर (लोणी:पुना:क्वाटरगेट) किसान सशक्तिकरण सम्मेलन.



20 अक्तुबर (घाटकोपर:मुम्बई) श्री राज ठाकरेजी को संदेश

19 अक्तुबर (नेपाल) शिवानी बहन की नेपाल सेवायात्रा

18 अक्तुबर (देहली) दादीजी मिले महामहिम राष्ट्रपतीजीसे

17 अक्तुबर (सिलापथार:आसाम) नैतिक मूल्योंपर हूआ प्रवचन.

16 अक्तुबर (ग्वालियर) सोच बदलनेसे परीतर्वन आयेगा - बीके दिव्य प्रभा.

15 अक्तुबर (नई देहली) किसान सशक्तिकरण अभियान.

14 अक्तुबर (अमहमदाबाद) वेस्टर्न रेल्वें डिपो में कार्यक्रम

13 अक्तुबर (औरंगाबाद) मराठवाडा का किया दौरा

12 अक्तुबर (वाराणसी:युपी) पंतप्रधान महोदयजी को संदेश

11 अक्तुबर (भोपाल) रोहित नगर में किसान सशक्तिकरण अभियान.

10 अक्तुबर (भोपाल) अखिल भारतीय किसान सशक्तिकरण अभियान

09 अक्तुबर (चर्चगेड:मुम्बई) उषाबहन (मुम्बई) का पाचवाँ स्मृतीदिवस

08 अक्तुबर (आबू रोड) परीवहन प्रभाग का राष्ट्रीय अभियान

07 अक्तुबर (अमरिका) भारतीय प्रतिनिधीयों से मुलाकात.

06 अक्तुबर (असम) गोलापारा में अभियान

05 अक्तुबर (भिलाई) फॅकल्टी डेव्हलपमेंट प्रोग्राम

04 अक्तुबर (कोरबा) गांधी जयंती पर दिया संदेश.

03 अक्तुबर (केशोद) श्रीगणेश रहस्य क

02 अक्तुबर (जलगांव) ए.टी. झाँबरे स्कूल

01 अक्तुबर (ग्वालियर) लाईफ स्कील कार्यक्रम. 


 

संग्रहित समाचार

महत्वपूर्ण खबरे


Joomla Templates and Joomla Extensions by JoomVision.Com
02 फरवरी (ग्वालियर) मंत्री श्री लाल सिंहजी को दिया संदेश.

02 फरवरी (ग्वालियर) मंत्री श्री लाल सिंहजी को दिया संदेश.

02 फरवरी (ग्वालियर) मंत्री श्री लाल सिंहजी को दिया संदेश. महाराजूपर सेवाकेंद्र की ओरसे निमंत्रण दिया ब्र.कु. महेशनेRead more...
01 फरवरी (पिंपरी:पूना) सिंधी समाजसेवा सम्मेलन.

01 फरवरी (पिंपरी:पूना) सिंधी समाजसेवा सम्मेलन.

01 फरवरी (पिंपरी:पूना) सिंधी समाजसेवा सम्मेलन. बी.के. सुप्रिया बहन ने किया सम्बोधित.Read more...
31 जनवरी ( जेंजरा:कटघोरा) श्रीमद भगवद गीता.

31 जनवरी ( जेंजरा:कटघोरा) श्रीमद भगवद गीता.

31 जनवरी ( जेंजरा:कटघोरा) श्रीमद भगवद गीता. ब्र.कु. तुलसी बहनने सात दिवसीय प्रवचन श्रृंखला को किया सम्बोधित.Read more...

अन्य ख़बरे

Joomla Templates and Joomla Extensions by JoomVision.Com
युवा शिविर का सफल आयोजन.

युवा शिविर का सफल आयोजन.

त्रिनिदाद) युवा शिविर का सफल आयोजन. टोका त्रिनिदाद मेंे हासन्ना बीच रिसोर्ट पर युवा शिविर का आयोजन किया गया. Read more...
सफल रही ईश्वरीय सेवा यात्रा.

सफल रही ईश्वरीय सेवा यात्रा.

(नैरोबी) सफल रही ईश्वरीय सेवा यात्रा. ब्र.कु. चंद्रिका बहन समवेत भाई बहनोंने नैरोबी निवासीयों को किया ईश्वरीय ज्ञान से भरपूरRead more...
डॉ जानकीजी को भारत गौरव अवार्ड.

डॉ जानकीजी को भारत गौरव अवार्ड.

(लंदन) डॉ जानकीजी को भारत गौरव अवार्ड. ब्रहमाकुमारीज मुख्य प्रशासिका राजयोगीनी दादी डॉ जानकीजी को लंदन में हाऊस ऑफ कामन्स में भारत गौरव अवार्ड से सम्मानित किया गया. दादीजी की…Read more...

 

आज का मुरली प्रवचन

आज का मुरली प्रवचन सुबह 7 से 8 बजे तक देखीए आज की मुरली का वीडिओ B  

 

14-02-16 प्रात:मुरली ओम् शान्ति “अव्यक्त-बापदादा” रिवाइज:30-03-99 मधुबन

 


 

“तीव्र पुरुषार्थ की लगन को ज्वाला रूप बनाकर बेहद के वैराग्य की लहर फैलाओ”

वरदान:

मरजीवे जन्म की स्मृति द्वारा कर्मबन्धन को सम्बन्ध में परिवर्तन करने वाले परोपकारी भव!  

लौकिक कर्मबन्धन का सम्बन्ध अब मरजीवे जन्म के कारण श्रीमत के आधार पर सेवा के सम्बन्ध का आधार है। कर्मबन्धन नहीं सेवा का सम्बन्ध है। सेवा के सम्बन्ध में वैराइटी प्रकार की आत्माओं का ज्ञान धारण कर चलेंगे तो बंधन में तंग नहीं होंगे। लेकिन अति पाप आत्मा, अपकारी आत्मा से भी नफरत वा घृणा के बजाए, रहमदिल बन तरस की भावना रखते हुए, सेवा का सम्बन्ध समझकर सेवा करेंगे तो नामीग्रामी विश्व कल्याणी वा परोपकारी गाये जायेंगे।

स्लोगन:

समय वा परिस्थिति प्रमाण वैराग्य आया तो यह भी अल्पकाल का वैराग्य है, सदाकाल के वैरागी बनो। 

 


 सम्पूर्ण मुरली के लिए क्लिक करें     Click for full Murli:  More


बीकेवार्ता वेबपोर्टल : उदघाटन के ऐतिहासिक क्षण प्रकाशन शुभारम्भ दि 28 नवम्बर, 2009


 

बीकेवार्ता आर्टिकल बँक

बीकेवार्ता आर्टिकल बँक - ब्रहृमाकुमारीज वार्ता का अनोखा प्रयास  

आध्यात्मिक ज्ञान के आधार पर विभिन्न प्रकार के आर्टिकल्स्

इस आर्टिकल बँक की विशेषताएँ -

 1  लेख की भाषा निहाय कॅटेगरी बनी हुई है आपको इस कॅटेगरी को चुनना होगा, उसमे जो आर्टिकल होगे उस को सिलेक्ट कर आप डाऊनलोड कर सकतें है

इस हेतु अधिक विस्तत सहायता हेतू यहाँ क्लिक करें - विस्तत सहायता / जानकारी

आर्टिकल डाऊनलोड हेतू यहॉ क्लिक करें

 

आर्टिकल बँक के उद्देश्य :

बहूतसे सेवाकेंद्र की तथा प्रेस के भाई बहनों की माँग रहती है की उन्हें नये विषय पर ब्राहृाकुमारीज् आर्टिकल्स की आवश्यकता रहती है. जैसे मन की शांती, जीवन में सुख शांती प्राप्त करने की बातें, तनाव मुक्त जीवन आदि विषयोंपर समाचार पत्रों के लिए तथा पढने के लिए तथा दुसरों को समझाने हेतू आर्टिकल्स चाहिए और वह भी हिंदी तथा अपनी प्रादेशिक/रिजनल भाषाओं में, बीकेवार्ता ने इस बात को देखते हूए बहनों तथा भाइयों की मांग को कुछ हद तक पूरी करने का प्रयास किया है, ज्ञानसागर परमात्मा से कुछ ज्ञान की अंजली को जनमाध्यमोंको देने हेतू ज्ञानांजली - बीकेवार्ता आर्टिकल बँक को शुरु किया है,

 

लेख डिपॉझिट करने वाले लेखकों के लिए सूचना 

0 जो लेखक भाई - बहन लिखने की क्षमता रखतें है तथा अपना लेख, विचारों से आध्यात्मिक क्रांती लाना चाहतें है वह अपना लेख इस बँक में डिपॉझिट कर सकतें है . इस बँक में केवल आध्यात्मिक विचारों तथा वैचारिक क्षमताओं को उजागर करनेवालें ही लेख स्विकारें जायेगे. उचित लेखों को लेखक के नाम सहित इस आर्टिकल्स बँक की लिस्ट में शामील किया जायेगा. 

 

0 अपना लेख जीस भाषा में लिखा हो उसको टाईप फॉमेंट में ही स्विकारा जायेगा. आप इसके लिए जो फाँट का प्रयोग करेंगंे वह लेख के साथ अॅटेंच कर भेजें.

 लेख भेजने के लिए bkvarta@gmail.com

 अगर आपको इस संदर्भ में कोई तांत्रिक मदद चाहिए तो 9420664468 इस पर माँग सकतें है 

 

 विश्व पर्यावरण दिवस

संयुक्त राष्ट्र द्वारा सकारात्मक पर्यावरण कार्य हेतु दुनियाभर में मनाया जाने वाला 'विश्व पर्यावरण दिवस' सबसे बड़ा उत्सव है। पर्यावरण और जीवन का अन्योन्याश्रित संबंध है तथापि हमें अलग से यह दिवस मनाकर पर्यावरण के संरक्षण, संवर्धन और विकास का संकल्प लेने की आवश्यकता पड़ रही है। यह चिंताजनक ही नहीं, शर्मनाक भी है। पर्यावरण प्रदूषण की समस्या पर सन् 1972 में संयुक्त राष्ट्र संघ ने स्टाकहोम (स्वीडन) में विश्व भर के देशों का पहला पर्यावरण सम्मेलन आयोजित किया। इसमें 119 देशों ने भाग लिया और पहली बार एक ही पृथ्वी का सिद्धांत मान्य किया। इसी सम्मेलन में संयुक्त राष्ट्र पर्यावरण कार्यक्रम (UNEP) का जन्म हुआ तथा प्रति वर्ष 5 जून को पर्यावरण दिवस आयोजित करके नागरिकों कोप्रदूषण की समस्या से अवगत कराने का निश्चय किया गया। तथा इसका मुख्य उद्देश्य पर्यावरण के प्रति जागरूकता लाते हुए राजनीतिक चेतना जागृत करना और आम जनता को प्रेरित करना था। उक्त गोष्ठी में तत्कालीन प्रधानमंत्री श्रीमती इंदिरा गांधी ने 'पर्यावरण की बिगड़ती स्थिति एवं उसका विश्व के भविष्य पर प्रभाव' विषय पर व्याख्यान दिया था। पर्यावरण-सुरक्षा की दिशा में यह भारत का प्रारंभिक क़दम था। तभी से हम प्रति वर्ष 5 जून को विश्व पर्यावरण दिवस मनाते आ रहे हैं।

विचारपुष्प  -   जो संकल्प करो उसे बीच-बीच में दृढ़ता का ठप्पा लगाओ तो विजयी बन जायेंगे ! 

 [ विचारपुष्प का वीडिओ


ब्रह्माकुमारीज खबरे -अन्य वेबसाइट पर 


संस्कार धन - बोध कथा  : मन का राजा 

राजा भोज वन में शिकार करने गए लेकिन घूमते हुए अपने सैनिकों से बिछुड़ गए और अकेले पड़ गए। वह एक वृक्ष के नीचे बैठकर सुस्ताने लगे। तभी उनके सामने से एक लकड़हारा सिर पर बोझा उठाए गुजरा। वह अपनी धुन में मस्त था। उसने राजा भोज को देखा पर प्रणाम करना तो दूर, तुरंत मुंह फेरकर जाने लगा।
भोज को उसके व्यवहार पर आश्चर्य हुआ। उन्होंने लकड़हारे को रोककर पूछा, ‘तुम कौन हो?’ लकड़हारे ने कहा, ‘मैं अपने मन का राजा हूं।’ भोज ने पूछा, ‘अगर तुम राजा हो तो तुम्हारी आमदनी भी बहुत होगी। कितना कमाते हो?’ लकड़हारा बोला, ‘मैं छह स्वर्ण मुद्राएं रोज कमाता हूं और आनंद से रहता हूं।’ भोज ने पूछा, ‘तुम इन मुद्राओं को खर्च कैसे करते हो?’ लकड़हारे ने उत्तर दिया, ‘मैं प्रतिदिन एक मुद्रा अपने ऋणदाता को देता हूं। वह हैं मेरे माता पिता। उन्होंने मुझे पाल पोस कर बड़ा किया, मेरे लिए हर कष्ट सहा। दूसरी मुद्रा मैं अपने ग्राहक असामी को देता हूं ,वह हैं मेरे बालक। मैं उन्हें यह ऋण इसलिए देता हूं ताकि मेरे बूढ़े हो जाने पर वह मुझे इसे लौटाएं।

तीसरी मुद्रा मैं अपने मंत्री को देता हूं। भला पत्नी से अच्छा मंत्री कौन हो सकता है, जो राजा को उचित सलाह देता है ,सुख दुख का साथी होता है। चौथी मुद्रा मैं खजाने में देता हूं। पांचवीं मुद्रा का उपयोग स्वयं के खाने पीने पर खर्च करता हूं क्योंकि मैं अथक परिश्रम करता हूं। छठी मुद्रा मैं अतिथि सत्कार के लिए सुरक्षित रखता हूं क्योंकि अतिथि कभी भी किसी भी समय आ सकता है। उसका सत्कार करना हमारा परम धर्म है।’ राजा भोज सोचने लगे, ‘मेरे पास तो लाखों मुद्राएं है पर जीवन के आनंद से वंचित हूं।’ लकड़हारा जाने लगा तो बोला, ‘राजन् मैं पहचान गया था कि तुम राजा भोज हो पर मुझे तुमसे क्या सरोकार।’ भोज दंग रह गए।

 


ब्रह्माकुमारीज् की प्रमुख खबरें -

 

 

  चित्रों सहित विस्तार से समाचार के लिए क्लिक करें  


 

बोध कथा-

विचार की पवित्रता

एक राजा और नगर सेठ में गहरी मित्रता थी। वे रोज एक दूसरे से मिले बिना नहीं रह पाते थे। नगर सेठ चंदन की लकड़ी का व्यापार करता था। एक दिन उसके मुनीम ने बताया कि लकड़ी की बिक्री कम हो गई है। तत्काल सेठ के मन में यह विचार कौंधा कि अगर राजा की मृत्यु हो जाए, तो मंत्रिगण चंदन की लकडि़यां उसी से खरीदेंगे। उसे कुछ तो मुनाफा होगा। शाम को सेठ हमेशा की तरह राजा से मिलने गया। उसे देख राजा ने सोचा कि इस नगर सेठ ने उससे दोस्ती करके न जाने कितनी दौलत जमा कर ली है, ऐसा कोई नियम बनाना होगा जिससे इसका सारा धन राज खजाने में जमा हो जाए।
दोनों इसी तरह मिलते रहे, लेकिन पहले वाली गर्मजोशी नहीं रही। एक दिन नगर सेठ ने पूछ ही लिया, ‘पिछले कुछ दिनों से हमारे रिश्तों में एक ठंडापन आ गया है। ऐसा क्यों?’ राजा ने कहा, ‘मुझे भी ऐसा लग रहा है। चलो, नगर के बाहर जो महात्मा रहते हैं, उनसे इसका हल पूछा जाए।’ उन्होंने महात्मा को सब कुछ बताया। महात्मा ने कहा, ‘सीधी सी बात है। आप दोनों पहले शुद्ध भाव से मिलते रहे होंगे, पर अब संभवत: एक दूसरे के प्रति आप लोगों के मन में कुछ बुरे विचार आ गए हैं इसलिए मित्रता में पहले जैसा सुख नहीं रह गया।’ नगर सेठ और राजा ने अपने-अपने मन की बातें कह सुनाईं। महात्मा ने सेठ से कहा,’ तुमने ऐसा क्यों नहीं सोचा कि राजा के मन में चंदन की लकड़ी का आलीशान महल बनवाने की बात आ जाए? इससे तुम्हारा चंदन भी बिक जाता। विचार की पवित्रता से ही संबंधों में मिठास आती है। तुमने राजा के लिए गलत सोचा इसलिए राजा के मन में भी तुम्हारे लिए अनुचित विचार आया। गलत सोच ने दोनों के बीच दूरी बढ़ा दी। अब तुम दोनों प्रायश्चित करके अपना मन शुद्ध कर लो, तो पहले जैसा सुख फिर से मिलने लगेगा।’ 5

ब्रह्माकुमारीज् की प्रमुख खबरें

 श्रद्धा एवं भक्ति के साथ मना मां जगदंबे स्मृति दिवस

झुमरीतिलैया (कोडरमा): झुमरीतिलैया के रेलवे कॉलोनी स्थित ईश्वरीय ब्रह्माकुमारी संस्थान में रविवार को आदि देवी मातेश्वरी जगदंबे का 49वां स्मृति दिवस विश्व शांति दिवस के रूप में मनाया गया। इस अवसर पर अधिवक्ता सत्यनारायण प्रसाद, केंद्र संचालिका लक्ष्मी बहन ने जगदंबे के चित्र पर पुष्प अर्पित किया। ब्रह्माकुमारी लक्ष्मी बहन ने कहा कि मातेश्वरी जगदंबे की विशेषता और शिक्षाओं पर प्रकाश डालते हुए कहा कि 1937 में परमात्मा शिव ने सृष्टि पर अपना दिव्य कर्तव्य व मानवीय तन प्रजापिता ब्रह्माकुमारी का आधार लिया जो बाद में ज्ञान की देवी मातेश्वरी जगदंबे कहलायी जिनको ब्रह्मा वत्स प्यार से मम्मा भी कहा करते थे। उन्होंने कहा कि जगदंबे बेहद योगिनी एवं तपस्विनी थी और दिव्य गुणों की खान थी। वह विश्व के लिए प्यार, दुलार, ममता की छांव थी। मौके पर अधिवक्ता सत्यनारायण प्रसाद ने कहा कि मातेश्वरी जगदंबे, सरस्वती पर प्रकाश डालते हुए उन्होंने कहा कि मां जैसा दुनिया कोई शब्द नहीं हो सकता। अगर मां नहीं होती तो हम भी न होते। मां पूरे परिवार को अपने साथ चलाती है। इस अवसर पर बलदेव प्रसाद, अमरदीप, राम चौधरी, शंकर चौरसिया, शिव बजाज आदि उपस्थित थे।

राजयोग शिविर का आयोजन 25 से

झुमरीतिलैया: प्रजापति ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय रेलवे कॉलोनी में 25 से 30 जून तक निश्शुल्क तनावमुक्ति, राजयोग शिविर का आयोजन किया जाएगा। यह जानकारी केंद्र संचालिका ब्रह्माकुमारी लक्ष्मी बहन ने दी।


दोहरी जिंदगी से सुख-शांति नहीं- प्राची बहन

रायपुर । मनुष्य की दिनोदिन बढ़ रही इच्छाएं चिंता और तनाव पैदा कर रही हैं। यदि हम सफल जीवन जीना चाहते हैं तो जीवन के प्रति अपने दृष्टिकोण को बदलना होगा। ये विचार प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय चौबे कॉलोनी में रविवार से शुरू हुए 'स्वस्थ विचार-खुशनुमा परिवार' राजयोग शिविर में ब्रह्माकुमारी प्राची बहन ने व्यक्त किए।

जीवन का उद्देश्य विषय पर उन्होंने कहा कि हरेक मनुष्य दोहरी जिंदगी जी रहा है, जो वह है वह दिखना नहीं चाहता और जो वह नहीं है वह दिखना चाहता है। यदि हमारे मन में व्यर्थ विचार आते हैं तो जीवन में शांति नहीं आ सकती है। इन विचारों का हमारे शरीर पर सूक्ष्म व गहरा प्रभाव पड़ता है। हमारे विचार ही हमारा व्यक्तित्व बनाते हैं। आप कैसे दिखते हैं, यह महत्वपूर्ण नहीं है, लेकिन आप कैसा सोचते हैं, यह अधिक महत्वपूर्ण है।

धन से सुख नहीं खरीद सकते

प्राची बहन ने कहा कि वर्तमान समय में धन कमाना ही मनुष्य के जीवन का एकमात्र लक्ष्य रह गया है। वह धन को ही सब कुछ समझकर इसकी ही साधना, आराधना में अपना पूरा जीवन लगा देता है। हमें इस तथ्य को समझना होगा कि धन ही सब कुछ नहीं है। धन से हम भौतिक साधन तो खरीद सकते हैं, लेकिन भौतिक साधन स्थायी खुशी नहीं दे सकते।

एक उदाहरण देते हुए उन्होंने बताया कि अमेरिका, स्वीडन व जापान ऐसे देश हैं, जहां प्रति व्यक्ति आय सबसे अधिक है, लेकिन सबसे ज्यादा आत्महत्या की घटनाएं इन्हीं देशों में होती हैं और सबसे ज्यादा मनोरोगी भी यहीं हैं। इससे सिद्ध होता है धन से सुख नहीं मिल सकता। सुखी जीवन के लिए शारीरिक, भौतिक, सामाजिक व आध्यात्मिक सभी क्षेत्रों में सामंजस्य बनाकर चलना होगा, तभी हमारा जीवन पूर्ण रूप से सुखमय होगा।

 


 

नशे से होने वाले दुष्प्रभाव बताए

बिलासपुर : राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला बंदला में वीरवार को प्रजापति ईश्वरीय ब्रह्माकुमारी विश्वविद्यालय के सौजन्य से मेरा व्यसन मुक्त हिमाचल अभियान के अंतर्गत कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इसमें मुख्य अतिथि के रूप में संस्थान से जेबी शर्मा ने नशे से होने वाले दुष्प्रभाव बताए।

उन्होंने विद्यार्थियों को नशे से दूर रहने की सलाह दी। उन्होंने कहा कि नशा न केवल शारीरिक, मानसिक बल्कि पारिवारिक व सामाजिक रूप से प्रभावित करता है। इस दौरान बच्चों ने भाषण के माध्यम से भी नशे के खिलाफ जागरूक किया। इस दौरान कार्यकारी प्रधानाचार्य राकेश शर्मा, विक्रम चंद, नारायण देव, बाबू राम, कासी राम, पूनम कुमारी, शशि शर्मा, बाबू राम, प्ररेणा ठाकुर, भूषण सहित स्टाफ सदस्य मौजूद थे।


ब्रह्माकुमारी का शांति महोत्सव

इंदौर। प्रजापति ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय द्वारा रविवार को अमितेश नगर में शांति महोत्सव का आयोजन किया गया इस अवसर पर टी. वी. धारावाहिक रामायण में मन्दोदरी की भूमिका अदा करने वाली प्रभा मिश्रा बहन भी मौजूद थी। इसमें उन्होंने उपस्थित लोगों को संबोधित किया है। गायक युगरतन भाई ने अपने सुन्दर गीतों की परस्तुति दी। -


 

नशा बीमारियां व मानसिक व्याधियों की जड़

एटा-कासगंज : तंबाकू के नशे की जड़ें आज सारे समाज पर विष बेल की भाति फैल चुकीं हैं। छोटे बच्चों से लेकर बड़ों तक सभी इसे फैशन, गौरव का प्रतीक मानकर प्रयोग करते हैं। फिर बाद में पश्चाताप के सिवाय उनके हाथ कुछ भी नहीं लगता। यह विचार ब्रह्माकुमारी सरोज बहिन ने प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय के सेवा केंद्र में तंबाकू मुक्ति दिवस के मौके पर आयोजित गोष्ठी में व्यक्त किए।

इस बुराई से समाज को मुक्त करने के लिए कई उपाय एक साथ में अपनाए जाएं तभी इसकी जड़ें समाप्त होंगी। एक तो सकारात्मक स्वास्थ्य शिक्षा द्वारा जागरुकता फैलानी चाहिए। राजयोग के अभ्यास से सुस्वास्थ्य, एकाग्रता एवं मानसिक शान्ति की प्राप्ति होती है। कार्यक्रम को प्रसिद्ध व्यवसाई संदीप माहेश्वरी, वीरेन्द्र किशोर भाई तथा रूबी बहन ने भी संबोधित किया।

तंबाकू मुक्ति दिवस पर आयोजित कार्यक्रमों के अंतर्गत रेलवे स्टेशन पर जागरुकता प्रदर्शनी का भी आयोजन किया गया। जिसका शुभारंभ स्टेशन अधीक्षक देशराज तथा बहन रजनेश दीक्षित द्वारा दीप प्रज्ज्वलन कर किया गया। इस मौके पर डा. सतीश शर्मा, रामबाबू प्रतिहार, शरद भाटिया, सत्यनारायण, ओमप्रकाश, रामप्रकाश यादव, माधुरी बहन, प्रीती बहन, ओमप्रकाश, राजकमल माहेश्वरी, महेश एडवोकेट, मीना शर्मा, कृष्णा भाई, राममूल भाई, स्वराज भाई, रवींद्र सिंह पुंढीर, रीना बहन, नीरज बहन आदि लोग उपस्थित थे।


सहन शक्ति विघ्नों से बचने का कवच है : आत्मप्रकाश भाई

हिसार : प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय के केंद्र द्वारा एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया। ब्रह्माकुमारी मुख्यालय माउट आबू से आए वरिष्ठ राजयोग शिक्षक आत्म प्रकाश भाई ने विघ्नों में स्थिर रहने की युक्ति बताई।

उन्होंने कहा कि विघ्नों में घबराना नहीं चाहिए। घबराने से मनुष्य अपनी शक्तियों का प्रयोग नहीं कर पाता है। विघ्नों में धैर्य एवं सहन शक्ति बनाए रखें। सहन शक्ति विघ्नों से बचने का कवच है। विघ्नों में अक्सर नकारात्मक संकल्प आते है जो मन एवं शरीर पर प्रतिकूल प्रभाव डालते है। इनसे बचने के लिए मन को शक्तिशाली एवं सकारात्मक संकल्पों की प्रोग्रामिंग दो। उन्होंने कुछ शक्तिशाली संकल्प/स्वमान बताए जिन्हे चिंतन करने से विघ्न दूर हो जाते है। आपसी संबंधों में टकराव से बचने के लिए हमें एक-दूसरे के गुण व विशेषताएं देखनी चाहिए। इससे आपसी स्नेह बढ़ेगा और संबंधों में प्रगाढ़ता आएगी। इस अवसर पर डॉ. आरपी गलहोत्रा, मुलकराज, एमएल बजाज, डा. राकेश मलिक, प्रो. वेद गुलयानी, प्रो. विरेद्र कौशिक, सोमप्रकाश, महेश, पवन, तनू, सुनीता आदि शामिल है।


 


 

शिव जयंती का शुभारंभ 

नसीराबाद - प्रजापिता ब्रह्माकुमारी सदस्यों ने रविवार को झूलेलाल मंदिर के पास शिव जयंती का शुभारंभ झंडारोहण कर किया। पार्षद चारू बाबानी ने बताया कि जिला रसद अधिकारी सुरेश सिंधी ने झंडारोहण कर शुभारंभ किया और ईश्वरीय ब्रह्माकुमारी संस्था के सेवा कार्यों की सराहना की। कार्यक्रम में ब्रह्माकुमारी आशा बहन, ब्रह्माकुमारी अंकिता बहन और ब्रह्माकुमारी नीलम बहन ने निराकार परमात्मा शिव और उनके द्वारा रचित तीन लोकों मनुष्य लोक, सूक्ष्म देव लोक और ब्रह्मलोक की जानकारी देकर मायावी संसार के बारे में समझाया। नीलम बहन ने प्रजापिता ब्रह्मा द्वारा नई सृष्टि की स्थापना विष्णु द्वारा नई सृष्टि की पालना और शंकर द्वारा पुरानी सृष्टि के विनाश पर प्रकाश डाला और शिव शंकर में अंतर के गूढ़ रहस्य की जानकारी दी। अंत में आशा बहन ने नगर में प्रवचन की धर्मसभाओं की जानकारी दी।


 

 

एक कल्प होता है. यह पांच हजार वर्ष का : ब्रह्माकुमारी प्रेमलता

DEHRADUN : प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय के सुभाषनगर सेवाकेंद्र में संडे को प्रवचन का आयोजन किया गया. राजयोगिनी ब्रह्माकुमारी प्रेमलता ने कहा कि सतयुग, त्रेतायुग, द्वापरयुग और कलयुग का एक कल्प होता है. यह पांच हजार वर्ष का एक स्वचालित कल्प है. सतयुग, त्रेतायुग को ब्रह्मा का दिन माना जाता है. द्वापरयुग व कलयुग को ब्रह्मा की रात्रि माना जाता है. ब्रह्मा के दिन के आरंभ में आत्माएं अपने मूल घर परमधाम से व्यक्त प्रकृति का आधार लेते हुए इस संसार में आती हैं. जब ब्रह्मा की रात्रि का अंत होता है तो सभी आत्माएं इस श्रृष्टि से परमधाम चली जाती हैं. यही दुनिया का चक्र है.


 

भाईचारे का संदेश दिया
 
 
 कासगंज: होली पर्व के उपलक्ष्य में ब्रह्माकुमारी संस्थान पर कार्यक्रम में एक दूसरे को रंग गुलाल लगाकर आपसी भाईचारे का संदेश दिया गया। वहीं विद्यालयों में भी विद्यार्थियों ने होली पर्व को धूमधाम से मनाया।

 

ब्रह्माकुमारी संस्थान पर आयोजित कार्यक्रम में सरोज बहन ने कहा कि सद विचारों के साथ ज्ञान योग को धारण कर इस होली पर्व को मनाने से आपसी द्वेष मिट जाते हैं। रूबी बहन, नीरज बहन व रूपा बहन ने भी अपने विचार व्यक्त किए। कार्यक्रम का संचालन रीना बहन ने किया। इस मौके पर भगवान शरण अग्रवाल, राजकमल माहेश्वरी, राजेन्द्र, रवीन्द्र पुण्ढीर, रामप्रकाश यादव, रामबाबू प्रतिहार, डा. सतीश शर्मा, अनिल तोशनीवाल, गौरीशकर शर्मा, शरद भाटिया, राममूल भाई, जयप्रकाश, विजय, श्याम, बीना गुप्ता, कान्ती देवी, प्रेमवती बहन, मंजू बहिन आदि उपस्थित रहे।

 

वहीं नगर के जेपी पब्लिक ऐकेडमी एवं लोटस एकेडमी में भी विद्यार्थियों ने एक दूसरे को रंग लगा आपसी भाईचारे का संदेश दिया।

 

 


 

आध्यात्मिक होली मिलन कार्यक्रम का आयोजन

पूर्वी दिल्ली : ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय पांडव नगर सेवा केंद्र द्वारा होली मंगल मिलन कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इसमें एक बनो, नेक बनो का संदेश लोगों तक पहुंचाने की कोशिश की गई। राष्ट्रीय पिछड़ा वर्ग आयोग के अध्यक्ष न्यायाधीश वी ईश्वरैया कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि शामिल हुए।

 

इस अवसर पर बच्चों ने देवगीत, संगीत एवं नृत्य प्रस्तुति से जनसमूह को आत्मविभोर कर दिया। न्यायाधीश वी ईश्वरैया ने कहा कि होली का त्योहार केवल हिंदुओं तक ही सीमित नहीं है, बल्कि यह जाति, धर्म व भाषा सभी को राष्ट्रीय एकता एवं भाईचारा के सूत्र में बाधने का एक आध्यात्मिक उत्सव है। इस दौरान सहायक आयुक्त वीर सिंह त्यागी ने कहा कि समाज में बढ़ती हिंसा, अपराध, भ्रष्टाचार और व्यभिचार का मूल कारण लोगों की अत्यधिक भौतिक तथा भोगवादी मानसिकता है, जिसे केवल आध्यात्मिक एवं नैतिक शिक्षा, प्रशिक्षण एवं मेडिटेशन के माध्यम से दूर किया जा सकता है। कार्यक्रम की मुख्य आयोजिका राजयोग शिक्षिका ब्रह्माकुमारी मंजुल ने उपस्थित लोगों को सामूहिक ध्यान करवाया। इस अवसर पर स्थानीय थाना प्रभारी ओमप्रकाश, मुकेश आहुजा, कवयित्री डॉ. ऋतु मंजरी सहित काफी संख्या में लोग मौजूद थे।

 


 

माता बच्चों की निर्माता भी होती है : चक्रधारी

माता बच्चों की निर्माता भी होती है : चक्रधारी

मुजफ्फरनगर। प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय के महिला प्रभाग ने अखिल भारतीय अभियान 'नारी सुरक्षा हमारी सुरक्षा' के तहत नगर में स्थानीय सेवा केंद्र दिव्य धाम केशवपुरी से पदयात्रा निकाली। राजयोगिनी चक्रधारी दीदी ने कहा माता बच्चों की माता ही नहीं, बल्कि निर्माता भी है।

शिव चौक के निकट तुलसी पार्क में मुख्य अतिथि सिटि मजिस्ट्रेट विंध्यावासिनी राय ने ईश्वरीय ध्वज दिखाकर पदयात्रा का शुभारंभ किया। तुलसी पार्क से प्रारम्भ होकर पद यात्रा झांसी रानी चौक, प्रकाश चौक व महावीर चौक से होते हुए अर्पण बैंक्वेट हाल पहुंची। यहां हुए कार्यक्रम में रूस से पधारी ब्रह्माकुमारी महिला प्रभाग की अध्यक्षा राजयोगिनी चक्रधारी दीदी ने कहा कि माता बच्चों की केवल माता ही नहीं बल्कि निर्माता भी होती है। उन्होंने कहा कि यदि नारी अपमानित होती है। हम सबमें से किसी की मां, बहन, पत्नी, बेटी, चाची, बुआ ही अपमानित होती है। हमारा उनसे कोई न कोई संबंध जरूर होता है। नगर पालिका चेयरमैन पंकज अग्रवाल ने नारी सुरक्षा को अति महत्वपूर्ण बताया। उन्होंने कहा कि जिन देशों में नारी का शोषण होता है, वह देश तरक्की नहीं कर पाते। उन्होंने नारी सुरक्षा के लिए नगर की 50 प्रतिशत युवतियों को अगले वर्ष तक मार्शल आर्ट का प्रशिक्षण दिलाने की घोषणा की। महिला अस्पताल की सीएमएस डा. मृदुला अग्रवाल, बीके गणेश, बीके अंजली, बीके लवली ने अपने विचार रखे। बीके जयंती, बीके पूनम, सरला, केतन कर्णवाल का योगदान रहा।


पुण्यतिथि पर हुई सामूहिक प्रार्थना सभा

पुण्यतिथि पर हुई सामूहिक प्रार्थना सभा

मीरजापुर : शुक्लहां स्थित प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय के नवीन सेवा केंद्र में शनिवार को संस्थापक प्रजापिता ब्रह्मा बाबा की 45वीं पुण्यतिथि विश्व शांति दिवस के रूप में श्रद्धापूर्वक मनाई गई।

सेवा केंद्र में इस अवसर पर सुबह सामूहिक प्रार्थना सभा का आयोजन किया गया। इसमें बाबा के महान त्याग और तपस्या को याद किया गया। सभी ने विश्वशांति, मानवीय एकता, देश की खुशहाली, सुख एवं समृद्धि के लिए सामूहिक रूप से राजयोग का अभ्यास किया गया। संस्थान की सेवा केंद्र प्रभारी बीके बिंदु बहन ने कहा कि आज मानवता पर बहुत बड़ा संकट आया है।

हमें दु:खी व अशांत आत्माओं को अपनी शुभभावना, शुभकामना के प्रकम्पनों से शांति, सुख और आनंद की अनुभूति करानी है। बीके प्रदीप भाई ने कविता के माध्यम से बाबा को श्रद्धांजलि अर्पित की। इस अवसर पर सुदर्शन भाई, मालबर भाई, रामजी भाई, राधा बहन ने भी बाबा के जीवन दर्शन पर प्रकाश डाला। किरन, नीता व रूपाली बहनों ने सभी को सामूहिक योग अभ्यास कराया। विशेष भोग भी लगाया गया। बाबा का स्मृति दिवस विश्व के 140 देशों में ब्रह्माकुमारी के लगभग नौ हजार सेवा केंद्रों पर विश्व शांति दिवस के रूप में मनाया जाता है।


ईश्वरीय विश्वविद्यालय के तत्वाधान में निश्शुल्क राज योग शिविर

त्रिवेणीगंज(सुपौल), बड़ी दुर्गा मंदिर के प्रागंण में प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय के तत्वाधान में निश्शुल्क राज योग शिविर आयोजित की गई। जिसका उद्धाटन थानाध्यक्ष अमित कुमार ने किया। मौके पर ब्रह्माकुमारी सुपौल की संचालिका बीके शालिनी ने कहा कि कार्यक्रम 31 जनवरी तक आयोजित किए जाएंगे। जिसमें प्रथम दो दिनों तक राज योग शिविर के आध्यात्मिक प्रदर्शनी लगाये जाएंगे। शिविर को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि राज योग आध्यात्मिक प्रदर्शनी लोगों के तनाव, व्यसन एवं अनेक प्रकार के मानसिक विकारों को दूर करने का काम करती है। और जीवन में सुख शांति लाने में सहायक है। कहा कि आज के भाग दौड़ भरी जिदंगी में मानव का मानसिक संतुलन बिगड़ता जा रहा है। पारिवारिक संबंध भी टूट रहा है। इस प्रकार अनेक प्रकार की विकृतियों को भगाने में यह राज योग हमें बहुत मदद करता है। बोले कि प्रजापति ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय संसार में अपने 140, देशों में 10 हजार सेवा केन्द्रों के माध्यम से मानव सेवा में सतत रूप से जुड़े हैं। उन्होंने शिविर में भाग लेकर राज योग से लाभान्वित होने का लोगों से आह्वान किया। मौके पर सुनीति बहन, विवेकानंद भाई, सत्य नारायण भाई, चुन्नी लाल भरतिया, श्याम अग्रवाल, जवाहर गुप्ता, मनीष सिंह, रामावतार अग्रवाल, नवीन कुमार अग्रवाल आदि उपस्थित थे।


'गुगल ब्वाय' का सांपला पहुंचने पर स्वागत

'गुगल ब्वाय' का सांपला पहुंचने पर स्वागत

सांपला. गुगल ब्वाय एवं जीनियस नाम से विख्यात छोटे कौटिल्य का सांपला पहुंचने पर शुक्रवार को स्वागत किया गया। ब्रह्माकुमारी आश्रम में स्वागत समारोह हुआ, जिसमें ब्रह्माकुमारी वंदना के नेतृत्व में क्षेत्र के प्रबुद्घ लोगो ने कौटिल्य शर्मा व उसके परिवार का अभिनंदन किया।

कौटिल्य ने उपस्थित विद्वानों द्वारा पूछे गए प्रश्नों का तत्काल सही उत्तर देकर हर किसी को अपनी प्रतिभा का कायल बना दिया। आश्रम में ब्रह्माकुमारी ललित की देखरेख में हुए समारोह में लेखक एवं इतिहासकार मधुकांत, समाज सेवी सुरेंद्र गुप्ता, मूलचंद शर्मा, डा. सुरेश राठी, शैलजा शर्मा, किशन मलिक और रामकुमार गहलोत ने प्रश्न पूछे। कौटिल्य के पिता ने कहा कि प्रतिभावान बच्चों की प्रतिभा को उजागर करने की जरूरत है।


 दीपावली महोत्सव धूमधाम से मनाया 

रामपुर मनिहारन, सहारनपुर : प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय में दीपावली महोत्सव धूमधाम से मनाया गया। कार्यक्रम में चेयरमैन पूनम चौधरी ने कहा कि एकता व आपसी प्यार ही त्योहार का आनन्द है।

खुराना काम्प्लेक्स में प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय में आयोजित दीपावली महोत्सव कार्यक्रम में क्षेत्र से आए भाई बहनों ने सामूहिक रुप से दीप प्रज्ज्वलित कर दीपोत्सव कार्यक्रम में भाग लिया। प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय की सेवा केन्द्र इन्चार्ज बीके सन्तोष ने दीपावली पर्व के बारे में विस्तार से प्रकाश डाला और कहा कि मनुष्य हमेशा सच्चाई के रास्ते पर चले। मुख्य अतिथि नगर पंचायत चेयरमेन पूनम प्रदीप चौधरी ने कहा कि त्योहार व पर्व किसी भी जाति धर्म का हो उसे मिलजुल कर मनाने का आनन्द और ही है। मा. बाबूराम शर्मा, मा.सूरजमल, सेठपाल, बीके पूनम, जितेन्द्र, सुरेश, जनेश्वर, मोनू, सचिन, आदि काफी ब्रहम कुमार व ब्रह्माकुमारी रहे। 


 

विश्व शांति को युवा साइकल यात्रा निकाली

 

निज , जलेसर (एटा): नगर में बुधवार को ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय द्वारा युवा विश्व के आधार स्तंभ के दृष्टिगत शातिदूत साइकल यात्रा निकाली गई।

बुधवार को निकाली गई साइकल यात्रा नगर भर में घूमी। यात्रा ने लोगों को शांति का संदेश देते हुये युवाओं को जागरूक किया। इस अवसर पर ब्रह्माकुमारी सरोज बहन ने बताया कि युवाओं पर आज सभी की नजरें हैं, युवा विश्वका आधार स्तम्भ है। जैसे चार टागों के बगैर कुर्सी रुक नहीं सकती। वैसे ही युवा के बगैर समाज चारित्रिक, नैतिक सुदृढ़ नहीं बन सकता। इसका मुख्य उद्देश्य युवाओं को जागरूक करना है।

साइकल यात्रा को पूर्व पालिकाध्यक्ष के.जी.वाष्र्णेय ने ध्वज दिखाकर फीरोजाबाद के लिए रवाना किया। देश में ऐसी 94 साइकल यात्रा के जत्थे युवाओं में विश्व शाति और व्यसन मुक्ति का अलख जगा रहे हैं। सुभाष भाई ने सभी का आभार व्यक्त किया। इस अवसर पर ओमप्रकाश, बबलेश, सुदेश, हरी सिंह, रामवीर सिंह, रामरक्षपाल सिंह, श्रीपाल सिंह, पुरूषोत्तम, रामपाल शर्मा, गौरव वर्मा सहित बड़ी संख्या में लोग शामिल थे।


नैतिक मूल्यों को भूलने से हुआ समाज का पतन- भगवान भाई, केआईटी में छात्रों को दिए मानव मूल्यों पर टिप्स

रायगढ़  । बच्चों के सर्वांगीण विकास के लिए भौतिक शिक्षा के साथ-साथ नैतिक शिक्षा की भी आवश्यकता है। नैतिक शिक्षा से ही सर्वांगीण विकास संभव है। उक्त उद्गार प्रजापिता ब्रह्माकमारी ईश्वरीय विश्य विद्यालय माउंट आबू राजस्थान से पधारे राजयोगी ब्रह्माकुमार भगवान भाई ने कहे। वे आज शनिवार को किरोड़ीमल इंजीनियरिंग कॉलेज ऑफ टेक्नालॉजी में नैतिक शिक्षा का महत्व विषय पर छात्र-छात्राओं को सम्बोधित करते हुए बोल रहे थे। भगवान भाई ने कहा कि शैक्षणिक जगत में विद्यार्थियों के लिए नैतिक मूल्यों को जीवन में धारण करने की प्रेरणा देना आज की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि नैतिक मूल्यों की कमी यही व्यक्तिगत, सामाजिक, पारिवारिक, राष्ट्रीय एवं अन्तर्राष्ट्रीय सर्व समस्याओं का मूल कारण है। विद्यार्थियों का मूल्यांकन आचरण, अनुसरण, लेखन, व्यवहारिक ज्ञान एवं अन्य बातों के लिए प्रेरणा देने की आवश्यकता है। ज्ञान की व्याख्या करते हुए उन्होंने बताया कि जो शिक्षा विद्यार्थियों को अंधकार से प्रकाश की ओर, असत्य से सत्य की ओर, बन्धनों से मुक्ति की ओर ले जाए वही शिक्षा है। उन्होंने कहा कि अपराध मुक्त समाज के लिए संस्कारित शिक्षा जरुरी है। गुणगान बच्चे देश की संपत्ति भगवान भाई ने कहा कि आज के बच्चे कल का भावी समाज हैं। अगर कल के भावी समाज को इन्हीं बच्चों को नैतिक सद्गुणों की शिक्षा की आधार से चरित्रवान बनाए। तब समाज बेहतर बन सकता है। गुणवान व चरित्रवान बच्चे देश की सच्ची सम्पत्ति हैं। उन्होंने बताया कि ऐसे गुणवान और चरित्रवान बच्चे देश और समाज के लिए कुछ रचनात्मक कार्य कर सकते हैं। उन्होंने भारतीय संस्कृति को याद दिलाते हुए कहा कि प्राचीन संस्कृति आध्यात्मिकता की रही जिस कारण प्राचीन मानव भी वंदनीय और पूजनीय रहा। उन्होंने बताया कि नैतिक शिक्षा से ही मानव के व्यवहार में निखार लाता है। कुसंग, सिनेमा, व्यसन, फैशन से युवा भटके ब्रह्माकुमार भगवान भाई ने कहा कि वर्तमान समय कुसंग, सिनेमा, व्यसन और फैशन से युवा पीढ़ी भटक रही है। आध्यात्मिक ज्ञान और नैतिक शिक्षा के द्वारा युवा पीढ़ी को नई दिशा मिल सकती है। उन्होंने बताया कि सिनेमा इन्टरनेट व टीवी. के माध्यम से युवा पीढ़ी पर पाश्चात्य संस्कृति का आघात हो रहा है। इस आघात से युवा पीढ़ी को बचाने की आवश्यकता है। उन्होंने बताया कि युवा पीढ़ी को कुछ रचनात्मक कार्य सिखायें तब उनकी शक्ति सही उपयोग में ला सकेंगे। वरिष्ठ राजयोगी ब्रह्माकुमार भगवान भाई ने कहा कि हमारे मूल्य हमारी विरासत है। मूल्य की संस्कृति के कारण आज भारत की पूरे विश्व में पहचान है। इसलिए नैतिक मूल्य, मानवीय मूल्यों की पुर्नस्थापना के लिए सभी को सामूहिक रूप में प्रयास करने चाहिए। उन्होंने कहा कि मनुष्य की सोच ही उसके कर्मों का आधार बनता है। इसलिए कर्म विश्व के लिए हितकारी हो। सकारात्मक चिन्तन का महत्व बताते हुए उन्होंने कहा कि सकारात्मक चिन्तन से समाज में मूल्यों की खुशबू फैलती है। सकारात्मक चिन्तन से जीवन की हर समस्याओं का समाधान होता है। उन्होंने शिक्षा का मूल उद्देश्य बताते हुए कहा कि चरित्रवान, गुणवान बनना ही शिक्षा का उद्देश्य है। उन्होंने आध्यात्मिकता को मूल्यों का स्रोत बताते हुए कहा कि शांति, एकाग्रता, ईमानदारी, धैर्यता, सहनशीलता आदि सद्गुण मानव जाती का श्रृंगार है। स्थानीय ब्रह्माकुमारी राजयोग सेवाकेन्द्र की बी.के. ममता बहन ने अपना उद्बोधन देते हुए कहा कि कुसंग, सिनेमा, व्यसन और फैशन से वर्तमान युवा पीढ़ी भटक रही है। चरित्रवान बनने के लिए युवा को इससे दूर रहना है। अपराध राजयोग का महत्व बताते हुए कहा कि राजयोग से एकाग्रता आयेगी। इस अवसर पर नमिता वर्मा व्याख्याता उक्षमा सूर्यवंशी व्याख्याता केआईटी के.के. गुप्ता रजिस्टार कु. ममता बहन, कु. मधु भाई, कु. भगत भाई, मनोज भाई सहित बड़ी संख्या में छात्र-छात्राएं उपस्थित थे।


With coperation by Jagran, Daily Bhaskar and other news papers

लेटेस्ट वीडिओ, म्युझिक,वालपेपर

देहिअभिमानी से सेफटी - शिलू बहन - हिंदी भाषा - Date: 14-11-2013 | Size: 205.34 MB | वीडिओ

देहिअभिमानी से सेफटी - शिलू बहन - हिंदी भाषा - Date: 14-11-2013 | Size: 8.52 MB | ऑडिओ

 


वत्तीसे सेवा  ब्रजमोहन भाई - हिंदी भाषा Date: 14-11-2013 | Size: 6.44 MB वीडिओ

वत्तीसे सेवा  ब्रजमोहन भाई - हिंदी भाषा Date: 14-11-2013 | Size: 6.44 MB ऑडिओ

 


 

वत्तीसे वायुमंडल ब्रजमोहन भाई - हिंदी भाषा -Date: 13-11-2013 | Size: 9.27 MB |

 


सांयकालिन क्लास  | दादी जानकीजी |हिंदीभाषा Date: 14-11-2013 | Size: 3.4 MB  

 


भोग संदेश - रुकमीणी बहन - हिंदी Date: 14-11-2013 | Size: 21.45 MB

 


भोग संदेश - रुकमीणी बहन - अंग्रेजी - Date: 14-11-2013 | Size: 971.61 MB


 

भोग संदेश - रुकमीणी बहन - हिंदी Date: 14-11-2013 | Size: 969.89 MB

 

गहन योगानुभूती - आत्मप्रकाशभाई - हिंदीभाषा - Date: 13-11-2013 | Size: 9.27 MB  


 सांयकालिन क्लास  | दादी जानकीजी |हिंदीभाषा Date: 13-11-2013 | Size: 83.01 MB  


 सांयकालिन क्लास  | दादी जानकीजी | अंग्रेजी Date: 13-11-2013 | Size: 83.02 MB |


 विकर्मजित कर्मजित | गीता बहन | हिंदी Date: 13-11-2013 | Size: 272.18 MB |


 विकर्मजित कर्मजित | गीता बहन  | हिंदी Date: 13-11-2013 | Size: 11.64 MB |  


 द वर्ड टू युज इज नाऊ | दादी जानकीजी | अंग्रेजी-Date: 12-11-2013 | Size: 50.31 KB |

 


सांयलिन क्लास - दादी जानकीजी - 11-11-2013 | Size: 79.79 MB | अंग्रेजी भाषा 

 

 


सांयलिन क्लास - दादी जानकीजी - 11-11-2013 | Size:  3.28 MB | अंग्रेजी भाषा 

 

 


सांयलिन क्लास - दादी जानकीजी - 11-11-2013 | Size: 83.17 MB | हिंदी भाषा 

 

 


सांयलिन क्लास - दादी जानकीजी - 11-11-2013 | Size: 3.41 MB | हिंदी भाषा 

 


हंस आसानधारी - सुदेश बहनजी  - 11-11-2013 | Size: 180.95 MB हिंदी भाषा 

 


हंस आसानधारी - सुदेश बहनजी  - 11-11-2013 | Size: 7.39 MB हिंदी भाषा 

 


बींग वर्ल्ड सर्वर - शिलू बहनजी - 10-11-2013 | Size: 8.23 MB अंग्रेजी भाषा 


अपने मन को पावरफुल करें - [ब्लीदा बहन]  (अंग्रेजी)         डाऊनलोड क्लिक

Date: 09-11-2013 | Size: 6.85 MB |

अमतवेला शुभकामनायें [दादी जानकीजी]  (हिंदी)             डाऊनलोड क्लिक 

Date: 07-11-2013 | Size: 20.58 KB 

भोग संदेश [रुकमणी बहनद्वारा]  (हिंदी)                        डाऊनलोड क्लिक 

Date: 07-11-2013 | Size: 20.58 KB  

 


 

 

मेडिटेशन म्युझिक ऑनलाईन सुनिए'   वालपेपर     प्रेरक प्रसंग : फोटो वार्ता 


लेटेस्ट वीडिओ देखीए

पाण्डवों का आध्यात्मिक नाममहात्म [ ब्रहमाकुमारी उषा बहनजी ]
मोह की रगे अति गहरी होती [ ब्रहमाकुमारी उषा बहनजी ]
मुरली का महत्व  [ ब्रहमाकुमारी शिवानी बहनजी ]
आत्मिकस्वरुप में कैसे रहे? [ ब्रहमाकुमारी शिवानी बहनजी ]
सभी समस्याओं का समाधान [ ब्रहमाकुमारी उषा बहनजी ]
क्षमाशिल कैसे बने [ ब्रहमाकुमारी शिवानी बहनजी ]

 


Gallery

ShantiSarovar-Raipur_6
Shanti Sarovar_2
Supreme Soul_9
Shantivan
  • Shantivan
  • (7 pictures)
  • Hits: 63009
  • Shantivan- Talheti, Abu Road

 

Madhuban
  • Madhuban
  • (7 pictures)
  • Hits: 91208
  • Pandav Bhavan
Gyan Sarovar_1
Om Shanti Retreat Centre
  • ORC
  • (4 pictures)
  • Hits: 36813
  • Om Shanti Retreat Centre

 

 

 
Pamphlet Matter

Shivratri Pamphlet FrontBack

 

 

 

31 जनवरी (भूवनेश्वर) वार्षिकोत्सव मनाया गया. सेवाकेंद्र के एक वर्ष पूर्ती पर भव्य कार्यक्रम का आयोजन किया गया.

 


 

30 जनवरी (विलेपार्ले:मुंबई) सफल सारथी अवार्ड. ट्रान्सपोर्ट एण्ड ट्रॅव्हल्स प्रभागद्वारा यह अवार्ड प्राप्त ड्रायव्हर भाईयों को सम्मानित किया गया.

 


 

29 जनवरी (हैद्राबाद) मुख्यमंत्री महोदय शान्तिसरोवर में. भ्राता एम. चंद्राबाबू नायडूजीने शांती सरोवर भेट की. शांतीसरांेवर के दसवें वर्धापन दिन कार्यक्रम का उदघाटन उन्होंने किया.


 

28 जनवरी (जयपूर:राज.) अंतरराष्ट्रीय खेल सम्मेलन मंें ईश्वरीय संदेश. स्पोटर्स एण्ड फिजिकल एज्युकेशन विषयपर आयोजित इस मम्मेलन में बीके जगबीरभाईने दिया संदेश.


 

27 जनवरी (मडिकेरी:कर्ना.) कर्म की गती गुह्य है. - भगवानभाई सेंट्रल जेल में ब्र.कु भगवानभाई, माऊंट आबू ने दिया ईश्वरीय संदेश


 

26 जनवरी (मंगलौर:कर्ना.) सेंट्रल जेल में दिया ईश्वरीय संदेश. ब्र.कु भगवानभाई, माऊंट आबू ने दिया ईश्वरीय संदेश.


 

25 जनवरी (मालाड:मुंबई)फिल्म इन्स्टि. में मेडिटेशन रुम का उदघाटन. प्रसिध्द फिल्म निर्देशक तथा निर्माता भ्राता सुभाष घई ने विशअलींग फिल्म इन्स्टि. में मेडिटेशन रुम का उघाटन किया

 


 

24 जनवरी (कटघोरा) आध्यात्मिक समागम एवं सम्मान समारोह संपन्न. नवनिर्वाचित जनप्रतिनिधीयों का सम्मान समारोह आयोजित किया गया.


 

23 जनवरी (लातूर:महा.) उर्जा छात्र-क्लब स्थापित. गणतंत्र दिवस के अवसरपर विवेकानंद विद्यालय, सीबीएससी लातूर में महाराष्ट्र उर्जा छात्र क्लब की स्थापना की गई


 

22 जनवरी (बिलासपूर:छ.ग.) आरके नगर में सरस्वती झाँकी. राजकिशोर नगर, बीके रुपा बहनने माँ सरस्वती की महिमा का प्रवचन किया.


21 जनवरी (शान्तिवन) रेडिओ मधुबन वर्धापन दिन. ब्रहमाकुमारीज कम्युनिटी रेडिओ मधुबन का 4 था वर्धापन दिवस मनाया गया.

 


 

20 जनवरी (मालाड:मुंबई) सुरक्षीत रास्ता सप्ताह. एसटी डिपो में हुआ कार्यक्रम.


 

19 जनवारी (केशोद:गुज) यात्रा खुशनुमा जीवन की और कार्यक्रम संपन्न. ब्र.कु.डा. सविता, माऊंट आबूने किया मार्गदर्शन.


 

18 जनवरी (आबूपर्वत:पाण्डवभवन) पिताश्रीजी का स्मृतिदिवस. विश्वशांती दिवस के रुप में समूचे विश्व में मनाया गया.


 

17 जनवरी (विशाखापट्टणम) विधायक महोदय को दिया संदेश. नये वर्ष का संदेश भ्राता विष्णु कुमार राजू जी को बीके शशीकला बहनने दिया 


 

16 जनवरी (मुंबई) 102वीं विज्ञान परिषद में स्पार्क सेवा. मुंबई विश्व विद्यालय में आयोजित इस परिषदमें स्प्रिच्ुअल एप्लीकेशन एण्ड रिसर्च की सुंदर सेवा हुई


 

15 जनवरी (जयपूर) नारित्वदर्शन की सहभागीता. जयपूर अन्तरराष्ट्रीय फिल्म फेस्टीवल में नारित्व दर्शन को नॉमिनेट किया गया.


 

14 जनवरी (शान्तिवन) रिडिकव्हरींग ऑफ लाईफ. वैज्ञानिक तथा अभियंता प्रभागद्वारा राष्ट्रीय सम्मेलन का आयोजन किया गया


 

13 जनवरी (शान्तिवन) ब्र.कु. करुणाभाईजी का 75 वाँ जनमदिन. ब्रहमाकुमारीज संस्था के मीडिया उपाध्यक्ष तथा मल्टीमीडिया प्रभारी ब्र.कु. करुणाभाईजी के जनमदिन की प्लेटिनम ज्युबिली हर्षोल्हाससे मनाई गई.


 

12 जनवरी (शांतीवन)दादीजी का 99 वाँ जनमदिन मनाया. ब्रहमाकुमारीज संस्था की मुख्य प्रशासिका ददी जानकीजी का जन्मदिन बहुत ही उमंग उत्साहसे मनाया गया


 

11 जनवरी (मा.आबू) बीके केदारभाई का अभिनंदन किया दादीजीने. राजस्थान सरकारद्वारा उर्जा संरक्षण पुरस्कार प्राप्त करनेवाले बीके केदारभाई (उर्जा ऑडिटर) का अभिनंदन दादी रतनमोहिनीजी, बीके रमेशभाईजीने किया.


 

10 जनवरी (टिकरापारा:बीलासपूर) बालिका शिक्षा शिविर में सदेश. सरस्वती शिशु मंदिर उच्चस्तर मा. विद्यालय में बीके मंजू बहनने दिया ईश्वरीय संदेश.


 

09 जनवरी (राहूरी:महा.) आज की शाम भगवान के नाम. ब्र.कु. सुरजभाई, मा. आबू, ब्र.कु. गीताबहन पुना तथा उषा बहन राहूरी ने दिया ईश्वरीय संदेश. ब्र.कु. बद्रिश हेहाडरायने मीडियाद्वारा पहूंचाया संदेश


 

08 जनवरी (कलपेट्टा:केरला) केंद्रीय विद्यालय में दिया ईश्वरीय संदेश. ब्र.कु. भगवानभाई, आबू पर्वत ने  कही नैतिक मूल्यों की बा


 

07 जनवरी (बार्शि:महा.) कुंकूलोक हायस्कूल में ईश्वरीय संदेश. बीके संगीताबहनने दिया संदेश


 

06 जनवरी (केशोद) महान जादुगर विरागभाई हकुभा को दिया संदेश. बी.के. सत्याबहन, तथा बीके शिल्पा बहनने दिया परिचय.


 

05 जनवरी (हरिद्वार) ऋषीकुल में संत स्नेहमीलन, ब्र.कु.मिनाबहनने परमपिता परमात्मा का दिया सत्य परिच


 

04 जनवारी (बंेगलौर) फ्रि आय चेकींग कॅम्प. सेवाकेंद्र की ओरसे आयोजित कॅम्प में सहभागीयों दिया गया संदे


 

03 जनवरी (लिमा,पेरु:फ्रान्स)कोप-20 में ब्रहमाकुमारीज् की सहभागीता. क्लायमेंट चेंज कॉन्फरन्स में ब्रहमाकुमारीजने किया सहभाग


 

02 जनवरी (वाशी:मुंबई) सदभावना सभा में ब्रहमाकुमारीज् सहभाग. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की औरसे आयोजित इस मीटिंग में बहनोंने दिया संदेश


 

01 जनवरी (तिनसुखीया:आसाम) स्वर्णीम युग की पुन:स्थापना. गीता के भगवान को प्रत्यक्ष करने के सम्मेलनको, बी के ब्रजमोहनभाईजी, देहली, ब्र.कु. उषाबहनजी मा. आबू, बीके आशा बहनजी ने किया सम्बोधित

 

31 मार्च (कोरबा) नारी सुरक्षा अभियान. मानिकपुर में नारी सुरक्षा अभियान अंतर्गत व्याख्यान संपन्न हुआ


 

 

30 मार्च (राजिम) राज्यपाल महोदय को ई·ारीय संदेश. छत्तीसगढ़ के मान. राज्यपाल महामहिम शेखरदत्त जी को ई·ारीय संदेश दिया बहन पुष्पाने. इनके साथ ब्रा.कु. नारायणभाई और सांसद चन्दूलालजी उपस्थित थे.


 

29 मार्च (पिंपरी:पुना) शिवज्ञान दर्शन मेला. ब्र.कु पारुदीदी, ब्र.कु. सुरेखा बहन, उद्योजक संदिप वाघेरे इनके करकमलोंद्वारा इसका उदघाटन किया गया.


 

28 मार्च (बोरवली:मुंबई) दिव्या बहन को वूमन ऑफ एक्सलन्स अवार्ड. आंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के उपलक्ष में लाला लजपतराय इन्सिस्ट¬ूट आफ मॅनेजमेंट की औरसे ब्राहृाकुमारी दिव्या बहन को आध्यत्मिक क्षेत्र में अद्वितीय कार्य करने पर वूमन ऑफ एक्सलन्स अवार्ड से सम्मानित किया गया. डा. कमल गुप्ताजी, चेअरमन एलएलआय ने सम्मानित किया.


 

27 मार्च (अंजार-कच्छ:गुज.) रतनमणी मेटल एण्ड ट¬ूब लि. में कार्यक्रम. मुंदरा सेवाकेंद्र से ब्रा.कु. सुशला बहन ने मोटीवेशनल ट्रेनिंग शिविर करवाया.


 

26 मार्च (सायन:मुंबई) शांती उद्यान में महिला दिवस. आंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के उपलक्ष मंे ब्राहृाकुमारी संतोषदिदीजी के प्रमुख उपस्थित में कार्यक्रम का आयोजन किया गया. वरीष्ठ इन्स्पेक्टर बहन सुजाथा को इस समय ई·ारीय संदेश दिया गया.


 

25 मार्च (गुलबर्गा) 47 फिट शिवलिंग का भव्य आयोजन. विशाल द्वादर्श ज्योतिलिंग अमृतसरोवर में 5000 स्केअर फिट जगह पर किया गया. हर रोज दो हजार के करीब श्रद्धालु दर्शन करने आते थे.


 

24 मार्च (नेपाल) फ्यूचर ऑफ पावर. समाज के गणमान्य व्यक्तियों के लिए विशेष कार्यक्रम का आयोजन पोखरा में किया गया.


 

23 मार्च (शांतीवन) रेडिओ मधुबन ने मनाया महिला दिवस. आंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के उपलक्ष में, नारित्व दर्शन कार्यक्रम का आयाजन ब्राहृाकुमारीज् सामुदायीक रेडिओ स्टेशन , रेडिओ मधुबन ने आयोजित किया.


 

22 मार्च (बार्शी) महिला दिवस मनाया गया. सेवाकेंद्र की औरसे आंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के उपलक्ष में एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया

 


 

21 मार्च (मनीपाल:कर्ना.) 35 फिट महाशिवलिंग. शहर के मुख्य स्थान के सर्कल में भगवान शिव की 35 फिट शिवलिंग की भव्य प्रतिमा लगाई गई.


 

20 मार्च (विलेपार्ले:मुंबई) टीवी तथा फिल्म कलाकरोंने मनाई शिवरात्री. लाखंण्डवाला क्षेत्र में टीवी तथा फिल्म कलाकर डाली बींद्रा, श्रीमती ज्योत्सना डिगे आदियांेने शिवजयंती मनाई.


 

19 मार्च (चेंबुर:मुंबई) 40 फिट शिवलिंग दर्शन. पहली बार भगवान शिव के 40 फिट ऊँचाईवाले शिवलिंगका दर्शन लिया श्रद्धालुओंने.


 

18 मार्च (मुंबई) नारी सुरक्षा, हमारी सुरक्षा. महिला सशक्तिकरण हेतु निकाली गई रॅली. समाज की सभी वर्गो की महिलाओं लिया हिस्सा.


 

17 मार्च (बैंगलौर) शिवजयंती महोत्सव. भगवान शिव का भव्य ज्योतिलिंग स्थापन किया गया.शिवलिंगका दर्शन लिया श्रद्धालुओंने.


 

16 मार्च (बार्शी) शिवजयंती महोत्सव. भ.के. गव्हाने, पत्रकार, विनोद बुडूख, अध्यक्ष लायन्स कल्ब, प्रकाश महामुनी, अध्यक्ष, लायन्स क्लब, तेजस बखारीया, अध्यक्ष, रोटरी क्लब, मोहनभाई, संगीत बहन, वर्षा बहन, राणी बहन महादेवी बहन वैजिनाथभाई आदियोंने किया शिवध्वजारोहण.


 

15 मार्च (चेन्नई) बारा ज्योतिलिंगम् दर्शन. शहर मंे भगवान शिव के बारा ज्योतिलिंगर्म दर्शन करने हेतु भव्य चैतन्य आयोजन किया गया.


14 मार्च (बेलापूर:मुंबई) शिवजयंती महोत्सव. भ्राता मंदा म्हात्रे,पूर्व विधायक, बहन स्नेहल पाठक, टीवी कलाकार, भ्राता आर सी सिंग, बीके शिला, बीके शुभांगी , बीके मिना ने किया उदघाटन


 

13 मार्च (अजमेर) भव्य शिवलिंग का निर्माण. शिवजयंती महोत्सवपर 15फिट का भव्य शिवलिंग का निर्माण किया गया जिसका दर्शन शहर के हजारों श्रद्धालुओंने लिया.


 

12 मार्च (केशोद) शिवजयंती महोत्सव. विधायक भ्राता अरविंदभाई लाडाणी, रोटरी क्लब के प्रमुख भ्राता कांतीभाई चुडासमा, जेसीस के प्रमुख भ्राता रजनीभाई फडदु, प्रो. डो. भुपेन्द्रभाई जेपी तथा बीके रुपा बहन उपस्थित थे


 

11 मार्च (मालाड:लिबर्टी गार्डन) गीतकार श्रवणकुमार पहुंचे शिवरात्रीपर . परमात्मा शिव की मनोरम्य झाँकी.  शिवजयंती महोत्सव पर शिवजयंती की झाँकि निकाली गई. जिसका उदघाटन शोभा बहन, कॅप्टर जीहेना, कॅ. पूनम, बीके राजबेन, बीके कुंती बहन, म्युझीक डायरेक्टर श्रवणकुमार, गीतकार डेबूजीत, चांदमिश्रा, निरजाबहन आदियों के करकमलोंद्वारा किया उदघाटन


 

10 मार्च (कोरबा) शिव शंकर झाँकि. शिवजयंती महोत्सव पर शिवजयंती की झाँकि निकाली गई.


 

09 मार्च (ग्वालियर) शिवजयंती महोत्सव. सेवाकेंद्रकी औरसे शिवजयंती महोत्सव का भव्य आयोजन किया गया.


 

08 मार्च (नासिक) डो. भटकर सेवाकेंद्रपर. सीडॅक के प्रणेता तथा सुपर कम्प्युटर के जनक डो. विजय भटकर सेवाकेंद्र पर पहुंचे तथा राजयोग अनुभूती की.


 

 

07 मार्च (मालाड:दिडोंशी) सड़क निर्माण में ब्र.कु. योगदान. शहर विकास के अंतर्गत सड़क निर्माण योजना में ब्रह्माकुमारी बहनों ने प्रवचन दिया.


 

06 मार्च (ग्वालीयर:दिनलयाल नगर) शिवपार्वती झाँकि. शिवजयंती महोत्सव पर शिवजयंती की झाँकि निकाली गई.


 


05 मार्च (बाणेर) अमरनाथ की भव्य गुफाये. शिवजयंती महोत्सव पर भव्य अमरनाथ गुफाओं का निर्माण किया गया. जिससे बहोतही सुंदर सेवायें हुई.


04 मार्च (बेलगाम) विश्व की सबसे बडी पतंग. ब्रह्माकुमारीज् की औरसे विश्व की सबसे बडी पतंग का निर्माण किया गया इसमें शिवसंदेश दिया गया. 203 फिट पतंग का निर्माण किया गया.

 


 

03 मार्च (शांतीवन) शिवध्वजारोहण. शिवरात्री महोत्सव पर परमात्मा शिव का ध्वज लहराया बापदादा, दादी जानकीजी तथा वरीष्ठ दादी, भाईयोंने


02 मार्च (हातीना:गुज) महिला सम्मेलनसंपन्न. वडोदरा से पोरबंदर नारी सशक्तिकरण अभियान अंतर्गत कार्यक्रम संपन्न हुआ


 

01 मार्च (गुडगांव) ओआरसी में प्रशासक डायलाग. प्रशासक प्रभाग आयोजित इस सेमिनार में गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे.


 

04 दिसम्बर (अकोला) तनाव मुक्त शिविर. राजयोगीनी ब्रहमाकुमारी गीता बहन, मा. आबू इनके तीन दिवसीय तनावमुक्त शिविर संपन्न हुआ.

 

31 दिसम्बर (गोवा:कोंकण) गीता पाठशाला का शुभारम्भ. नवनिर्मित गीता पाठशाला का उदघाटन संपन्न हुआ.


 

30 दिसम्बर (अमरिका) डा. बीन्नी बहन की अमरिका सेवायात्रा. बीके डा. बीन्नी बहन के राजयोग ध्यानाभ्यास विषयपर विशेष व्याख्यान संपन्न हुए.


 

29 दिसम्बर (फरिदाबाद) प्युचर आफ पावर. भ्राता निझारभाई जुमाभाईजी आयोजित प्युचर आफ पावर कार्यक्रम का आयोजन किया गया. अतिविशिष्ट व्यक्तियों को राजयोग संदेश दिया गया.


 

 
28 दिसम्बर (मड़गांव:गोवा)
 महिला सशक्तिकरण. ग्रामीण महिला सशक्तिकरण अभियान का सफल आयोजन किया गया जिसका उदघाटन ब्रा.कु. शोभा, बहन बेला नाईक, जज ब्राहमाकुमार भगवान भाई, आबू पर्वत श्रीमती नूतन कामत, बीके सुरेखा बहन इनके शुभकरकमलोद्वारा संपन्न हुआ.


 

 

27 दिसम्बर (शिकागो) डॉ. बीन्नी बहन का शिकागो में व्याख्यान. स्वामी विवेकानंद जयंती के उपलक्ष में बीके डा. बीन्नी बहन का राजयोग ध्यानाभ्यास विषयपर विशेष व्याख्यान संपन्न हुआ.


 

26 दिसम्बर (कोलाबा) स्ट्रेस मॅनेजमेंट शिविर. पश्चिम रेल्वे अधिकारीयों के लिए विशेष स्ट्रेस मॅनेजमेंट शिविर का आयोजन किया गया. जिसमे ब्रा.कु. गायत्री बहन का विशेष व्याख्यान संपन्न हुआ.


25 दिसम्बर (कोंकण:गोवा) सर्व धर्म सम्मेलन संपन्न. स्थानिय सेवाकेंद्र की ओरसे विशेष सर्वधर्म सम्मेलन का विशेष आयोजन किया गया. ब्रा.कु. भगवानभाई माऊंट आबू की विशेष उपस्थितीत थी. ब्रा.कु. शोभा बहनने ई·ारीय संदेश दिया.


24 दिसम्बर (ग्वालियर) योगतपस्या भटटी. महाराजपूर सेवाकेंद्र की औरसे लष्कर सेवाकेंद्र की भाई बहनों की विशेष राजयोग तपस्या योगभट्टी का आयोजन किया गया. ब्रा.कु. राधाबहन, ज्योतीबहनने विशेष अभ्यास करवाया.


23 दिसम्बर (मालाड:मुंबई) मेडिकल कॅम्प का भव्य आयोजन. सेवाकेंद्र कीऔरसे आयोजित भव्य मेडिकल कॅम्प का उदघाटन कुंती बहन, फिल्म एक्टर राहूल राय, कुनीकलाल के शुभहस्तों से किया गया.


22 दिसम्बर (आबू रोड) राष्ट्रीय उर्जा संरक्षण अभियान. इनर्जी कन्झरवेशन दिवस के उपक्ष में होलिस्टीक अप्रोच टुवर्डस एनर्जी कन्झरवेशन विषयपर विशेष कार्यशाला का आयोजन किया गया. नई देहली के भ्राता सुनिल सूद, एनर्जी ऑडिटर और संस्थापक अध्यक्ष आयएईएमपी इनकी विशेष उपस्थिती थी.


21 दिसम्बर (कोरबा) विधायक जी का सम्मान. नवनिर्वाचित विधायक भ्राता जयसिंहजी अग्रवाल का विशेष सम्मान स्थानिय सेवाकेंद्र की औरसे बहन रुकमणीजी के किया गया. विधायकजीने ब्राहमाकुमारीज गतिविधीयों पर प्रसन्नता जताई तथा आध्यात्मिक प्रगती के लिए आशावाद जाहिर किया


20 दिसम्बर (पानीपत) मुख्यमंत्री महोदय द्वारा शिलान्यास. हरियाणा के मुख्यमंत्री मा. भ्राता भुपेंदर सिंग हुडा जी के शुभकरकमलोंद्वारा युव्र्हसील पिस ऑडोटोरियम का शिलान्यास संपन्न हुआ. इस अवसपर पर अतिविशिष्ट व्यक्ति उपस्थित थे.


19 दिसम्बर (ब्राज़िल) निर्मलादीदीजी की ब्राज़िल सेवायात्रा. सेलिंग द वेव्ज् आफ पीस एण्ड हेप्पीनेस विषयपर निर्मलादीदीजी का विशेष व्याख्यान फिस्टा शहर में आयोजित किया गया. दीदीजी के ब्रााजील सेवायात्रा में कई व्याख्यान संपन्न हुए.


18 दिसम्बर (आबूरोड) गॉडलिवूड का वेबटीवी चॅनल. गॉडलीवूड.आर्ग वेबपोर्टल पर वेब टीवी का शुभारम्भ किया गया.


17 दिसम्बर (जलगांव:महाराष्ट्र) नार्थ महाराष्ट्र वि·ाविद्यालय में कार्यक्रम. वि·ाविद्यालय के संगीत विभाग में कला तथा सांस्कृतिक प्रभाग के कार्यक्रम संपन्न  हूए


16 दिसम्बर (चोपडा:महाराष्ट्र) कला सांस्कृतिक प्रभाग कार्यक्रम. चोपडा जि. जलगांव में कला एवम सांस्कृतिक प्रभाग के विभिन्न कार्यक्रम संपन्न हुए


15 दिसम्बर (रायपुर छ.ग.) विधायक भ्राता डॉ. रमनसिंजी का सम्मान. विधानसीाा चुनाव में लगातार तीसरी बार विजय प्राप्त करने पर मुख्यमंत्री भ्राता डा. रमनसिंजी का गुलदस्ता भेंट कर सम्मान किया इंदौर ज़ोन की क्षेत्रीय प्रशसिका ब्राहमाकुमारी कमला बहनने.


14 दिसम्बर (सर्वे:गोवा) दवा के साथ दुवा की जरुरुत - भगवान भाई. सर्वे शहर के डाक्टर भाई बहनों के लिए आयोजित विशेष प्रवचन में माऊंट आबू के भगवानभाईने यह बात कही


13 दिसम्बर (ग्वालियर) माइण्ड मॅनेजमेंट प्रोग्राम. गोदरेज कन्झुमर प्रोडक्टस् लि. मालनपूर में बीके प्रल्हाद, बीके ज्योती बहनने माइण्ड मॅनेजमेंट विषयपर कार्यशाला का संचलन किया.


 

 

12 दिसम्बर (देहली) हेपीनेस फारएवर. श्री सत्य साई एन्टरनेशनल सेंटर में आयेजित कार्यक्रम में बीके पीयुश, डा सविता आनंद, बीके पुष्पा जस्टीस सुनील गौर, ज. व्ही ई·ारंा, बीके मृत्युंजय, जेके डाडू, आएएस, आदि ने किया उदघाटन


 

11 दिसम्बर (कोलाबा) रेल अफसरों के लिए तनावमुक्त शिविर. बीके स्वामीनाथन् ने दिया रेल अफसरों को तनावमुक्त जीवन जीने की कला की टिप्स


10 दिसम्बर (पानीपत) महिला शक्तिकरण सम्मेलन. बहन आशा हुडा, उपाध्यक्ष हरियाणा राज्य बाल कल्याण परिषद, बीके चक्रधारी बहन, बीके भारतभूषण, बीके सरला, जिला परीषद चेअमर ज्योती जागलान आदियोंं के करकमलोंद्वारा उदघाटन हुआ.


 

 

 

09 दिसम्बर (कुरूक्षेत्र) कर्मोसे मनुष्य महान बनता है. माऊंट आबू से पधारे ब्राहमाकुमार भगवान भाई ने जिला सुधार गृह में संस्कार विषय पर प्रवचन दिया.


 

08 दिसम्बर (सोनीपत:हरियाणा) सरस्वती पब्लिक स्कूल में प्रवचन. माऊंट आबू से पधारे ब्राहमाकुमार भगवान भाई ने नैतिक शिक्षा विषयपर प्रवचन दिया.


07 दिसम्बर (ग्वालियर) भूमिपुजन संपन्न. गोल्डन वल्र्ड रिट्रीट सेंटर स्थित सभागार के डोम का भूमिपूजन बीके अवधेश बहनजी, क्षेत्रीय निर्देशिका, भोपाल क्षेत्रके करकमलोद्वारा संपन्न हु


06 दिसम्बर (पुना) सिक्कीम गर्वनर जी को राजयोग संदेश. महामहिम श्रीनिवास दादासाहेब पाटील को ब्र.कु. दिपकभाई, ब्रा.कु. सोमप्रभाबहन ने ई·ारीय संदेश दिया

 


05 दिसम्बर (करनाल) नैतिक शिक्षा से सर्वांगिण विकास. माऊंट आबू से पधारे ब्राहमाकुमार भगवान भाई ने मधुबन पब्लिक स्कूल में प्रवचन दिया.

 


 

04 दिसम्बर (अकोला) तनाव मुक्त शिविर. राजयोगीनी ब्रहमाकुमारी गीता बहन, मा. आबू इनके तीन दिवसीय तनावमुक्त शिविर संपन्न हुआ.

 


 

01 दिसम्बर (युरोप) शिलू बहन की युरोप यात्रा.


 

बीकेवार्ता सम्माननिय पाठक संख्या

9210696
आज पढनेवाले पाठक
कल पढनेवाले पाठक
पिछले सप्ताह पढनेवाले पाठक
पिछले वर्ष पढनेवाले पाठक
एक तारीखसे अब तक पढनेवाले पाठक
पिछले मास पढनेवाले पाठक
अब तक की पाठक संख्या
1351
2461
14792
6888852
26207
69188
9210696

Your IP: 105.155.173.227
Server Time: 2016-02-13 21:03:39

 

आगामी  कार्यक्रम के लिए क्लिक करें   

18 जनवरी - पिताश्री प्रजापिता ब्रहमा स्मती दिवस
24 जून - मातेश्वरी जगदंबा सरस्वती स्मती दिवस
25 अगस्त - दादी प्रकाशमणीजी का स्मती दिवस


    

    


 


बीकेवार्ता 360 ड्रिगी वार्ता सेवा [न्यूज सर्विस]


ब्रहमाकुमारीज वर्गीकत सेवायें


  1. स्पार्क [SPARC] प्रभाग की सेवाओं का समाचार
  2. सुरक्षा सेवाएँ प्रभाग की सेवाओं का समाचार
  3. कला, संस्कृति प्रभाग की सेवाओं का समाचार
  4. खेल प्रभाग की सेवाओं का समाचार
  5. ग्राम विकास प्रभाग की सेवाओं का समाचार
  6. धार्मिक प्रभाग की सेवाओं का समाचार
  7. न्यायविद प्रभाग की सेवाओं का समाचार
  8. परिवहन और यात्रा प्रभाग की सेवाओं का समाचार
  9. शिपींग और टुरिझाम की सेवाओं का समाचार
  10. प्रशासक सेवा प्रभाग की सेवाओं का समाचार
  11. महिला सेवा प्रभाग की सेवाओं का समाचार
  12. मीडिया प्रभाग की सेवाओं का समाचार
  13. मेडिकल प्रभाग की सेवाओं का समाचार
  14. युवा प्रभाग की सेवाओं का समाचार
  15. वैज्ञानिक और इंजीनियर प्रभाग की सेवाओं का समाचार
  16. व्यापार एवं उद्योग प्रभाग की सेवाओं का समाचार
  17. शिक्षा प्रभाग की सेवाओं का समाचार
  18. समाज सेवा प्रभाग की सेवाओं का समाचार
  19. राजनितीज्ञ सेवा प्रभाग सेवाओं का समाचार

  विश्व और भारत महत्वपूर्ण दिवस


 

Who's Online

We have 19 guests and no members online

हमारी अन्य महत्वपूर्ण लिंक्स्

नई टेक्नॉलॉजि(IT)

मनोरंजन